हमारे बारे में (ABOUT COMPANY)

हमारी साइट पर RoHS चिन्ह: RoHS चिन्हित उत्पाद, RoHS निर्देशात्मक अपेक्षाओं को पूरा करते हैं।
सर्च इंजन का उपयोग करके, आपको अपेक्षित उत्पाद की खोज करनी चाहिए। RoHS निर्देशात्मक अपेक्षाओं को पूरा करने वाले उत्पादों के लिए,उत्पाद की खोज करने का बाद, लेबल RoHS "उत्पाद, चिन्ह और विवरण" कॉलम में दिखाई देगा।
RoHS निर्देश के साथ सुसंगतता से संबंधित समस्त जानकारी को हमारे आपूर्तिकर्ताओं से प्राप्त डेटा के आधार पर प्रस्तुत किया जाता है।

इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के क्षेत्र में तकनीक और जानकारी के संबंध में निरन्तर प्रगति के कारण नई पीढ़ी के उपस्करों का तीव्रतम आविष्कार होता है, जिसके परिणामस्वरूप बहुत अधिक अपशिष्ट का उत्पादन हो जाता है, क्योंकि सक्रिय उत्पाद के रूप में इस प्रकार के उपस्कर के इस्तेमाल का समय कम हो जाता है। ऐसे उत्पादों में अनेक खतरनाक तत्व शामिल होते हैं, उदाहरण के लिए भारी धातुएं, विशेष रूप से मर्करी, केडमियम, लैड, हेक्सावेलेन्ट क्रोमियम, फ्लेम रिटार्डेन्ट्स और इस तथ्य के परिणामस्वरूप ही ऐसा कचरा पर्यावरणीय रूप से खतरनाक बन जाता है। इस कारण से, यूरोपीय संघ ने कानूनी कदम उठाए हैं जिसके परिणामस्वरूप इस प्रकार के अपशिष्ट से होने वाला जोखिम न्यूनतम हो जाता है। इसे प्राप्त करने के लिए, कुछ इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों में कुछ खास खतरनाक तत्वों के प्रयोग पर प्रतिबंध से संबंधित RoHS निर्देश को अपनाया गया है।

Transfer Multisort Elektronik द्वारा 2005 की शुरूआत से निरन्तर गहन शोध किया जा रहा है और ऐसी परियोजनाओं को निष्पादित किया है जिन्हें नए निर्देश को अपनाने के लिए और RoHS निर्देश संबंधित अपेक्षाओं को पूरा करने वाले इसके ऑफर उत्पादों में शामिल करने के लिए तैयार किया गया है। हमारा आशय ग्राहकों को पर्यावरण-अनुकूल हिस्से-पुर्जों की पूर्ण उपलब्धता सुनिश्चित करना है। लेकिन, यह लक्ष्य इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक हिस्से-पुर्जे विनिर्माता की क्षमता पर निर्भर करता है। हमारे ग्राहकों की आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रयास करने के लिए TME कंपनी ने नियंत्रण प्रणाली को लागू किया है, जिसमें निर्देश के अनुसार हिस्से-पुर्जे उत्पादन की सुसंगतता की जांच की जाती है। इससे इस निर्देश के कार्यान्वयन की अवधि के दौरान हमारे ग्राहकों के साथ हम बिना किसी समस्या के सहयोग कर पाएंगे।

RoHS से संबंधित सभी सूचनाओं और टिप्पणियों को कृपया सीधे rohs@tme.pl पर भेजें

नीचे हमने RoHS निर्देश से संबंधित कानूनी स्थिति के अर्थ को दर्शाया है।

RoHS निर्देश – रिचय

1 जुलाई 2006 को पर्यावरण संरक्षण से संबंधित यूरोपीय समुदाय के RoHS (कुछ खतरनाक तत्वों के प्रयोग से संबंधित प्रतिबंध) निर्देश लागू कर दिए गए हैं। इस निर्देश के अनुसार इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों में छह खतरनाक तत्वों (अनुमत अधिकतम मान से अधिक) के इस्तेमाल को प्रतिबंधित किया गया है, जैसे कि:

  • मर्करी (पारा),
  • कैडमियम,
  • लैड,
  • हेक्सावेलेंट क्रोमियम,
  • फ्लेम रिटार्डेन्ट्स PBB और PBDE।

RoHS निर्देश को यूरोपीय समुदाय के WEEE (इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से अपशिष्ट) निर्देश से सीधे लिया गया है जिसे "अपशिष्ट निर्देश" कहा जाता है और यह इससे कड़ाई से जुड़ा है। दोनों निर्देशों का लक्ष्य इलेक्ट्रिक और इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद अपशिष्ट को कम करना और पर्यावरण को प्रदूषित करने वाले जोखिम को दूर करना है।

संकेंद्रण का अधिकतम मान

कैडमियम के अलावा, जिसके लिए अधिकतम संकेन्द्रण मात्रा 0,01% है, हर तत्व के लिए सजातीय सामग्री के वज़न के 0,1% का अधिकतम संकेन्द्रण अनुमत है। इसी के साथ-साथ, ये संकेन्द्रण मान अंतिम उत्पाद या एकल हिस्से-पुर्जे पर लागू नहीं होते हैं, बल्कि ये सजातीय सामग्री- सजातीय तत्व के वज़न पर लागू होते हैं, जिन्हें सैद्धांतिक रूप से अन्य तत्वों से यांत्रिक रूप से अलग किया जा सकता है। यह EU की स्पष्ट परिभाषा है।

निर्देश में शामिल उत्पादों के समूह

RoHS निर्देश में निम्नलिखित उत्पाद समूह शामिल हैं:

  • बड़े आकार के घरेलू उपकरण,
  • छोटे आकार के घरेलू उपकरण,
  • आईटी और दूरसंचार उपकरण,
  • उपभोक्ता उपकरण,
  • लाइट संबंधी उपकरण,
  • इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपस्कर (बड़े आकार के स्थिर औद्योगिक उपस्करों के अलावा),
  • खिलौने, मनोरंजन और खेलकूद उपकरण,
  • ऑटोमेटिक मशीनें।

प्रादेशिक दायरा (रेंज)

RoHS निर्देश, EU बाजारों से संबंधित है, हालांकि इलेक्ट्रॉनिक उद्योग की वैश्वीकरण प्रक्रिया के कारण अंतरराष्ट्रीय बाजारों में यह शीघ्रतापूर्वक मानक बन गया है। जैसा कि निर्देश में निर्धारित किया गया है, गैर-यूरोपीय संघ के देशों में भी ऐसे ही कदम उठाए गए हैं।

अधिक जानकारी

1 जुलाई 2006 के बाद से, हर अंतिम उत्पाद जो इस निर्देश के दायरे में आता है और जिसे EU बाजार में पेश किया जाता है, वह RoHS निर्देश की कसौटी पर खरा उतरना चाहिए। इसका संबंध यूरोपीय संघ में आयात किए जाने वाले उत्पादों और साथ ही EU में बिक्री और उत्पादन के लिए अभिप्रेत उत्पादों से भी है। RoHS निर्देश तैयार उत्पादों से संबंधित है, इसका संबंध अंतिम उत्पाद का हिस्सा बनने वाले हिस्से-पुर्जों और आधे-तैयार किये गए उत्पादों से नहीं है। वास्तविकता में विनिर्माताओं को ऐसे हिस्से-पुर्जों की आवश्यकता होगी जो इस निर्देश के अनुरूप है ताकि वे ऐसे अंतिम उत्पाद को तैयार कर सकें, जो निर्देश की आवश्यकताओं को पूरा करता है।

प्रतिबंध

RoHS निर्देश का सही कार्यान्वयन एक कार्यकारी निकाय के नियंत्रण में है, जो विनिर्माताओं द्वारा निर्देश आवश्यकताओं को पूरा करने की प्रक्रिया की परिशुद्धता का उल्‍लेख करने के लिए कार्रवाई कर सकता है। इसमें किसी भी प्रकार असंगति के कारण जुर्माना लगाया जा सकता है, और साथ ही EU बाजार से उत्पाद को पूरी तरह से हटाया जा सकता है।

तत्वों को उत्पादन उद्देश्यों के लिए सशर्त अनुमत किया गया है।

क्योंकि इन तत्वों को प्रतिस्थापित करने के लिए तकनीकी संभाव्यताएं उपलब्ध नहीं हैं इसलिए निर्देश में खतरनाक तत्वों के उपयोग से जुड़े प्रतिबंधों के संबंध में कुछ रियायतें दी गई हैं।

प्रमुख अपवादों में: लैड और मर्करी (पारा) शामिल हैं। लैड का प्रयोग निम्नलिखित के लिए किया जा सकता है:

  • उच्च गलनशील तापमान (>85% लैड मात्रा) युक्त सोल्डर मिश्र धातुओं में,
  • पीज़ोइलेक्ट्रिक सामग्रियों में,
  • पिक्चर ट्यूबों के लिए ग्लास में,
  • निर्देश में परिभाषित मिश्र धातुओं में।

जहां तक मर्करी (पारे) का संबंध है, इसका इस्तेमाल फ्लोरोसेंट ट्यूब्स और अन्य प्रकार के लैम्पों में किया जा सकता है। विशेष शर्तों पर निर्देश में कैडमियम प्लेटिंग और हेक्सावेलेंट क्रोमियम के इस्तेमाल की भी अनुमति दी गई है। विशिष्ट अनुप्रयोगों के आधार पर, यूरोपीय संघ द्वारा अन्य खतरनाक तत्वों की सशर्त अनुमति दी जा सकती है, हालांकि यह अस्थाई अनुमति होगी।

विनिर्माता द्वारा लेबल लगाया जाना

निर्देश में शामिल उत्पादों (हिस्से-पुर्जों के अपवाद के साथ) के संबंध में CE मार्किंग अपेक्षाओं को अवश्य पूरा किया जाना चाहिए। इसके अलावा, ऐसे उत्पादों की पहचान करने को सुगम बनाने के लिए विनिर्माताओं द्वारा स्वयं अपनी मार्किंग प्रणालियों को लागू किया गया है। 

EU और वैश्विक बाजारों पर निर्देश का प्रभाव

इस निर्देश का न केवल विनिर्माताओं और आपूर्तिकर्ता कंपनियों पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ा है, बल्कि यह इसका असर लॉजिस्टिक्स, गुणवत्ता नियंत्रण, वेयरहाउस स्टॉक, आपूर्तियों और साथ ही अंतिम उपभोक्ता पर भी पड़ा है। RoHS निर्देश का असर उन उत्पादों पर भी पड़ा है जिन्हें सीधे तौर पर इसमें शामिल नहीं किया गया है, क्योंकि विनिर्माताओं को अंतिम उपभोक्ता द्वारा उनके उत्पादों के विभिन्न उपयोगों का अनुमान लगाना होगा, जिसके हित की संरक्षा इस निर्देश द्वारा की जाती है।

RoHS निर्देश के साथ सुसंगतता की घोषणा

यूरोपीय संघ द्वारा यह अपेक्षित है कि निर्देश में शामिल समस्त उत्पाद (हिस्से-पुर्जों के अपवाद के साथ) RoHS निर्देश के अनुसार ही होने चाहिए। इसके अलावा, ग्राहकों द्वारा इस प्रकार के उपस्करों के प्रमाणन के पूरे प्रलेखों की समीक्षा की मांग की जा सकती है। RoHS तत्वों को सामूहिक पैकेटों और यूनिट पैकेटों, बीजकों या प्रेषणों सूचियों पर दर्शाया जाना सामान्य बात है।

हरा और PB (पीबी) रहित लेबल

विनिर्माताओं द्वारा भी हरे और PB रहित लेबल का इस्तेमाल किया जाता है। ये लेबल RoHS निर्देश के अनुसार नहीं हैं। पहले का अर्थ सिर्फ खतरनाक तत्वों के इस्तेमाल में कमी है, लैड-रहित सोल्डरिंग की प्रक्रिया के अनुकूल नहीं है (सोल्डरिंग का उच्चतर तापमान), दूसरे का अर्थ बिना लैड वाला उत्पाद है।

उत्पादों की बढ़ी हुई लागत RoHS निर्देश के अनुसार है

खतरनाक तत्वों के प्रयोग पर प्रतिबंधों के कारण उत्पादन प्रक्रिया में नई, अधिक मंहगी धातुओं और इसके यौगिकों का इस्तेमाल अनिवार्य हो जाता है। यह प्रक्रिया अपने आप में ही परिवर्तनों के अधीन है ताकि उत्पाद को RoHS निर्देश के अनुरूप बनाया जा सके। इन सभी परिवर्तनों से निर्देश की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए हिस्से पुर्जों की उत्पादन लागतों में काफी अधिक बढ़ोतरी होगी।

नई सोल्डर मिश्र धातु

अभी तक इस्तेमाल की जाने वाली सोल्डर मिश्र धातु को उत्पादन प्रक्रियाओं से हटाया जाना चाहिए। निर्देश में प्रतिबंधित सबसे महत्वपूर्ण घटक लैड है। लेकिन, यूरोपीय संघ ने इस संदर्भ में किसी सुस्पष्ट विकल्प को नहीं चुना है। सबसे अधिक विख्यात लैड-रहित मिश्रधातु, जिसे लैड मिश्र धातुओं को प्रतिस्थापित किया जा सकता है, वह टिन, सिल्वर और कॉपर (SAC) के क्षार (बेस) पर आधारित मिश्र धातु है। लेकिन, उच्चतर गलनशील तापमान इसकी विशेषता है।

RoHS निर्देश का पूर्ण अनुपालन

RoHS निर्देश के पूर्ण अनुपालन से संबंधित निर्देश में निहित तत्वों में कमी करना ही नहीं, बल्कि हिस्से पुर्जों को लैड रहित सोल्डरिंग प्रक्रिया के अनुकूल बनाना भी अपेक्षित है, यानि घटक को सोल्डरिंग के उच्चतर तापमान के लिए प्रतिरोधी बनाया जा सके। दुर्भाग्यवश, लैड रहित सोल्डर मिश्रधातुएं, लैड मिश्रधातुओं की तुलना में लगभग 400C उच्चतर तापमान पर गलती हैं। सोल्डरिंग समय में भी बढ़ोतरी होती है, जिसका सोल्डर किए गए कनेक्शनों की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इस संदर्भ में इलेक्ट्रो-कंड्यूसिव एडहेसिव्स संभावित विकल्प हो सकते हैं, लेकिन वर्तमान में उनका सामान्य रूप से इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

उपरोक्त जानकारी RoHS निर्देश से संबंधित पूर्ण जानकारी नहीं है। हमें पूरी आशा है कि इससे ग्राहकों को समस्याओं को जानने और संभावित समाधान उपायों को समझने में सहायता मिली होगी।

DIRECTIVE 2011/65/EU OF THE EUROPEAN PARLIAMENT AND OF THE COUNCIL of 8 June 2011 on the restriction of the use of certain hazardous substances in electrical and electronic equipment (modified version) (version EN)

लाइनकार्ड

उत्पादों को देखने के लिए, कृपया निर्माता या श्रेणी चुनें।

Quick Buy

?
उत्पाद का चिन्ह ऑर्डर की गई मात्रा

Quick Buy के अन्य विकल्प

यह वेबसाइट कुकीज़ का उपयोग कर रही है l क्लिक करे के लिए यहां  कुकीज़ और उनकी सेटिंग्स के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें l

इसे फिर से न दिखाएं